टीम इंडिया में वापस आए युवराज और नेहरा, लोग बोले- अभी भी 500, 1000 के नोट ले रहा BCCI

0
540

इंग्‍लैंड के खिलाफ घरेलू जमीन पर होने वाली एकदिवसीय और टी-20 श्रृंखला के लिए भारतीय क्रिकेट टीम का ऐलान कर दिया गया है। टीम में बाएं हाथ के धाकड़ बल्‍लेबाज युवराज सिंह की वापसी चौंकाने वाली रही। वनडे टीम में युवराज को तीन साल बाद शामिल किया गया है। युवी ने अपना आखिरी वनडे 11 दिसंबर 2013 को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सेंचुरियन में खेला था। टी-20 फॉर्मेट से भी धोनी करीब साल भर से बाहर हैं। 27 मार्च 2016 को मोहाली में ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप में खेले थे। चयनकर्ताओं ने उनके सेलेक्‍शन के पीछे घरेलू क्रिकेट में अच्‍छे प्रदर्शन को वजह बताया है। युवी ने बड़ौदा के खिलाफ 260 और मध्‍य प्रदेश के खिलाफ 177 रन की दो बड़ी पारियां खेलीं थीं। सोशल मीडिया पर युवी के टीम इंडिया में सेलेक्‍शन पर फैंस की मिश्रित प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। कुछ ने अपने पसंदीदा बल्‍लेबाज की टीम में वापसी पर खुशी जताई है तो कुछ ने इसे बेहद चौंकाने वाला फैसला बताया है। एक संभावना यह भी जताई जा रही है कि युवराज को सम्‍मानजनक विदाई देने के लिए टीम में शामिल किया गया है। 35 साल के युवराज 2015 वर्ल्‍ड कप टीम का हिस्‍सा नहीं थे और उनके 2019 वर्ल्‍ड कप खेलने की संभावना बेहद कम है। ऐसे में उनका चयन कई लोगों के गले नहीं उतर रहा। चयन समिति के प्रमुख एमएसके प्रसाद ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में बताया कि युवराज ने घरेलू स्‍तर पर शानदार प्रदर्शन किया है, इसकी प्रशंसा की जानी चाहिए। इस साल रणजी सीजन में युवराज ने पांच मैच खेले हैं। जिसमें उन्‍होंने दो शतक और दो अर्धशतक लगाए। दलीप ट्रॉफी में युवराज खेले जरूर मगर छाप छोड़ने में नाकाम रहे।

LEAVE A REPLY