अक्षरधाम जैसे खूबसूरत रूप में दिखेगा ब्रह्मा मंदिर, 9 करोड़ होंगे खर्च

0
631

अजमेर। पुष्कर का ब्रह्मा मंदिर आने वाले दिनों में अहमदाबाद के अक्षरधाम मंदिर जैसा खूबसूरत दिखने लगेगा। जिला पर्यटन विभाग का राष्ट्रीय तीर्थयात्रा स्थल पुनरुद्धार एवं आध्यात्मिक संवर्धन अभियान (प्रसाद योजना) के तहत मंदिर के सौंदर्यीकरण पर 9 करोड़ खर्च होंगे, देवस्थान विभाग भी इस पर अतिरिक्त 5 करोड़ रुपए खर्च करेगा। CM वसुंधरा राजे के निर्देशानुसार पुष्कर टेंपल टाउन के तौर पर विश्व स्तरीय आधारभूत संरक्षणों के साथ सुविधाएं विकसित होंगी। योजना को मूर्त रूप दिया जा रहा है। अप्रैल माह तक काम शुरू हो जाएगा, इससे पहले बैठक आयोजित कर योजना का ड्राफ्ट तैयार होगा। 2 मार्च को इसे अंतिम रूप देकर मंदिर परिसर में दस दिनों के लिए रखा जाएगा। इसमें आमजन, साधु-संन्यासी, देशी-विदेशी पर्यटकों के सुझाव आमंत्रित कर उनमें से बेहतर सुझावों को योजना में शामिल किया जाएगा। पुष्कर में विश्वविख्यात जगत पिता ब्रह्मा मंदिर का प्रवेश द्वार अक्षरधाम मंदिर की तर्ज करोड़ों की लागत से बनेगा। मंदिर में घुसते समय आप मनमोहक मंत्रों की धुनें सुनेंगे, मंदिर की आरती आैर अन्य धार्मिक रस्मों को आप मंदिर परिसर में प्रवेश करते ही स्क्रीन पर लाइव देख सकेंगे। इसे बनाने के लिए वही टीम काम करेगी, जिसने अक्षरधाम के द्वार बनाए हैं। दिल्ली, अहमदाबाद आैर जयपुर के आर्किटेक्ट की टीमें इस काम में जुटेंगी। यही नहीं, मंदिर के मूल रूप से छेड़छाड़ किए बगैर अक्षरधाम जैसे डोम्स, शेड्स, फाउंटेन आैर तरह-तरह की आकर्षक कलाकृतियां मंदिर की खूबसूरती में चार चांद लगाएंगे। मंदिर का बगीचा एंट्री प्लाजा के तौर पर विकसित होगा। पार्क में बच्चों के लिए तरह-तरह के आकर्षक झूले लगेंगे। पार्क में ग्रीनरी को सुंदर बनाने के लिए अलग-अलग आकार दिया जाएगा। मंदिर की परिधि से 100 मीटर की दूरी पर संरक्षण से जुड़े काम होंगे। वहीं फूड कोर्ट भी बनेगा, जहां शुद्ध व स्वादिष्ट भोजन व पेय पदार्थ मिलेंगे। साथ ही चारों आेर हैरिटेज लाइटें लगेंगी। ब्रह्मा मंदिर के मुख्य द्वार पर श्रद्धालुओं का दबाव कम करने के लिए एक और प्रवेश द्वार बनवाया जाएगा। मंदिर के पीछे खाली पड़ी 9 बीघा जमीन पर थीम पार्क बनेगा। इसके लिए नया प्रवेश द्वार विकसित किया जाएगा। यह थीम पार्क युग आैर वैदी थीम सहित पंचतत्व की थीम पर विकसित होगा। यज्ञशाला भी बनेगी। मंदिर परिसर में धार्मिक रस्मों को पूरा करने के लिए आेपन थिएटर बनेगा। इसके अलावा अत्याधुनिक गोशाला, आकर्षक मूर्तियां, कलाकृतियां, फाउंटेन, एस्केलेटर्स भी लगेंगे। एस्केलेटर्स से पर्यटकों को मंदिर में चढ़ने- उतरने में आसानी रहेगी। योजना में प्रसाद की दुकानों को भी शामिल किया है। सभी दुकानें आकर्षक लुक में नजर आएंगी। जिला कलेक्टर गौरव गोयल के अनुसार पुष्कर को टेंपल टाउन के दौर पर विकसित किया जा रहा है। अक्षरधाम की तर्ज पर ब्रह्मा मंदिर को आैर अधिक खूबसूरत रूप दिया जाएगा। अप्रैल माह तक काम शुरू हो जाएगा, इससे पहले बैठक आयोजित कर योजना का ड्राफ्ट तैयार होगा। 2 मार्च को इसे अंतिम रूप देकर मंदिर परिसर में दस दिनों के लिए रखा जाएगा। इसमें आमजन, साधु-संन्यासी, देशी-विदेशी पर्यटकों के सुझाव आमंत्रित कर उनमें से बेहतर सुझावों को योजना में शामिल किया जाएगा।

LEAVE A REPLY