अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप बनाने के लिए उदयपुर रेलवे स्टेशन जाएगा निजी हाथों में

0
214

उदयपुर। रेल मंत्रालय अब देश के 23 रेलवे स्टेशनों को स्टेशन रि-डवलमेंट स्कीम के तहत 45 साल के लिए निजी कंपनियों को लीज पर देगी। इसकी योजना को अंतिम रूप दिया जा चुका है। इनमें उत्तर-पश्चिम रेलवे का एकमात्र उदयपुर रेलवे स्टेशन भी शामिल है। इसे 100 करोड़ रुपए में लीज पर दिया जाएगा। इसके लिए केंद्र सरकार एवं रेलवे मंत्रालय ने पीपीपी (पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप) मोड के लिए ऑनलाइन निविदाएं मांगी हैं। आवेदन की अंतिम तिथि 28 जून तय की गई है, दो दिन बाद निविदाएं खोलने का समय तय किया गया है। देश के 23 रेलवे स्टेशनों की जमीन की नीलामी के बाद सफल बोलीदाता को स्टेशन का निर्माण अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप करना होगा। रेलवे स्टेशन पर ही तीन सितारा होटल, मॉल, लजीज व्यंजनों के स्टॉल, मनोरंजन के साधन विकसित किए जाएंगे। बोली लगाने के साथ ही स्टेशन संचालन का जिम्मा निजी हाथों में चला जाएगा।
हिस्सेदारी को लेकर नहीं किया खुलासा
फिलहाल हिस्सेदारी को लेकर रेलवे की ओर से कोई खुलासा नहीं किया गया है। शर्त के तहत निजी कंपनी रेलवे स्टेशन पर आय के साधन विकसित करेगी। स्टेशन की खाली जमीन पर होटल, मॉल सहित अन्य आय के साधनों का निर्माण करेगी। वहीं पुराने निर्मित हिस्से में किसी प्रकार की छेड़छाड़ नहीं की जाएगी। वर्तमान में रेलवे के पास रेल संचालन, पार्सल, टिकटिंग, तकनीकी, परिचालन, लॉ एंड ऑर्डर जैसे आमदनी के साधन हैं। निजी प्रतिनिधि को पूछताछ केंद्र, प्लेटफार्म, यूटीएस एवं होटल-मॉल संचालन की जिम्मेदारी दी जाएगी। वाणिज्यिक विकास के लिए छह एकड़ और 2.71 एकड़ के दो प्लॉट पर कार्य होंगे।

LEAVE A REPLY