विंबलडन अपडेट : आठवीं बार विंबलडन जीतने से महज एक कदम दूर हैं फेडरर

0
76

फाइनल में क्रोएशिया के मारिन सिलिच से होगी भिड़ंत
नई दिल्ली। सात बार के चैंपियन स्विस टेनिस स्टार रोजर फेडरर रिकॉर्ड आठवीं बार विंबलडन की ट्रॉफी जीतने से सिर्फ एक कदम दूर रह गए हैं। फेडरर ने शुक्रवार को लंदन में खेले जा रहे साल के तीसरे ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट के अपने 12वें सेमीफाइनल में चेक गणराज्य के टॉमस बर्डिच को तीन सेटों के मुकाबले में 7-6, 7-6, 6-4 से मात देकर फाइनल में जगह बनाई। फेडरर की यह बर्डिच की 25 मुकाबलों में 19वीं जीत है। अब खिताब के लिए 18 बार के ग्रैंडस्लैम चैंपियन फेडरर का सामना रविवार को क्रोएशिया के मारिन सिलिच से होगा। सातवीं वरीय मारिन ने अमेरिका के सैम क्वेरी को 6-7, 6-4, 7-6, 7-5 से पराजित कर पहली बार विंबलडन के फाइनल का टिकट कटाया। वह फाइनल में पहुंचने दूसरे क्रोएशियाई खिलाड़ी हैं। उनसे पहले 2001 के चैंपियन गोरान इवानिसेविक ने ऐसा किया था।

फेडरर 11वीं बार विंबलडन के फाइनल में पहुंचे। उन्होंने टूर्नामेंट में अभी तक एक भी सेट नहीं गंवाया है। घुटने की सर्जरी के बाद कोर्ट पर वापसी करने वाले फेडरर की यह 32 मैचों में 30वीं जीत है। 35 वर्षीय फेडरर खिताबी मुकाबले में पहुंचने वाले दूसरे सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बन गए। फेडरर अगर ट्रॉफी जीत जाते हैं तो वह रैंकिंग में तीसरे स्थान पर पहुंचे जाएंगे। अगर सिलिच चैंपियन बनते हैं तो वह पांचवें नंबर पर आ जाएंगे। फेडरर व सिलिच ने सात मुकाबले खेले हैं जिसमें से फेडरर ने छह जीते हैं और एक हारा है। सिचिल दूसरी बार किसी ग्रैंडस्लैम के फाइनल में पहुंचे। इससे पहले वह 2014 में यूएस ओपन के फाइनल में पहुंचे थे और ट्रॉफी भी जीती थी। वह 2014, 2015 और 2016 में क्वार्टर फाइनल में हार गए थे। सिलिच सबसे ज्यादा प्रयास के बाद विंबलडन के फाइनल में पहुंचने वाले ओपन ईरा के पहले खिलाड़ी बन गए हैं। वह 11 मौकों के बाद यहां खिताबी मुकाबले में पहुंचे। उनसे पहले यह रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के पैटिक राफ्टर (8) के नाम दर्ज था।

LEAVE A REPLY