अब तेज गर्मी में भी जिंदा रहने लगा स्वाइन फ्लू वायरस

0
23

पहले 15 से 18 डिग्री तापमान में जिंदा रहने की थी क्षमता, अब 42 डिग्री तापमान में भी एक्टिव रह मचा रहा हाहाकार

जोधपुर. स्वाइन फ्लू अब गर्मी में अपना कहर बरपाने लगी है। वास्तव में इसका वायरस अब अधिक तापमान में एक्टिव रहने लगा है। पुणे राष्ट्रीय अनुसंधान की टीम ने गत सप्ताह बुधवार से शुक्रवार तक पाली का दौरा किया था, जिसमें ये पाया गया है कि स्वाइन फ्लू ने अपना स्टेन बदल लिया है।
इस कारण 42 डिग्री तापमान में 24 घंटे इसका वायरस जिंदा रहने की क्षमता विकसित कर चुका है। पहले ये क्षमता 15 से 18 डिग्री तापमान में ही थी। यही वजह है कि अब जोधपुर में स्वाइन फ्लू का दायरा बढ़ता जा रहा है। सरकारी और निजी अस्पतालों में स्वाइन फ्लू के चपेट में आने का सिलसिला जारी है। सोमवार की अलसुबह उम्मेद अस्पताल में मासूम सालावास निवासी रेणुका पुत्री श्यामलाल ने दम तोड़ दिया। जोधपुर में पिछले पांच 5 दिनों में यह दसवीं मौत है व पिछले एक वर्ष में 40वीं मौत है। इधर, जोधपुर में अब तक 50 संदिग्ध स्वाइन फ्लू रोगियों को एन1 एच1 वायरस की पुष्टि के लिए जांच की गई, जिसमें गत तीन दिनों में 17 स्वाइन फ्लू के पॉजिटिव रोगी पाए जाने की पुष्टि माइक्रो बायलॉजी लैब मेडिकल कॉलेज में हुई हे। जिसमें से 11वीं मौत सोमवार सुबह उम्मेद अस्पताल में हुई है। जबकि सोजत से एक मरीज निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। इधर, मथुरादास माथुर अस्पताल में स्वाइन फ्लू रोगयों के लिए एक अलग से वार्ड बनाया गया है।
टेमी फ्लू का वितरण, वैक्सीन है ही नहीं
वर्तमान में जहां कहीं भी स्वाइन फ्लू के रोगी सामने आ रहे हैं उस क्षेत्र के आसपास 100 घरों में टेमी फ्लू का वितरण सीएमएचओ की टीमें कर रही है। बावजूद इसके जोधपुर के बड़े अस्पतालों में इस खूंखार बीमारी का वैक्सीन तक उपलब्ध नहीं है। खाली वेंटीलेटर पर डालकर टेमी फ्लू व एंटी बायोटिक के सहारे मरीजों की जान बचाने के प्रयास हो रहे है। ये बीमारी गर्भवती महिलाओं व नवजात बच्चों में अधिक फैल रही है।
लक्षण: तेज बुखार, सिर दर्द, खांसी
तेज बुखार आना, सांस में तकलीफ होना, तेज खांसी, पांवों में दर्द, सिर दर्द, चक्कर आना, नाक बहना।
बचाव: टेमी फ्लू व अन्य दवाइयां
एंटी बायोटिक व टेमी फ्लू समय पर लेना, मुंह पर मास्क लगा कर रखना, बुखार आते ही अस्पताल जाना।
चिकित्सकीय टीमें मुस्तैदी से जुटी है
उम्मेद अस्पताल में आज एक और मरीज की मौत हुई है। हमारी टीम मुस्तैदी से काम कर रही है। पूना से आई टीम ने स्वाइन फ्लू का स्टेन बदलने की पुष्टि की है। इसलिए इस मौसम में भी यह कहर मचा रही है।
डॉ. सुरेंद्रसिंह चौधरी,
सीएमएचओ

LEAVE A REPLY