जमीन से जुड़े शेखावत ने विरोधियों को दिखाई ताकत

0
52

मंत्री बन पहली बार जोधपुर आए तो स्वागत में उमड़ पड़ा जनसैलाब, रैली में लगे ‘अगला मुख्यमंत्री कैसा हो- शेखावत जैसा हो जैसे नारे

जोधपुर। भाजपा जोधपुर के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री का विरोधी मान चाहे गजेंद्रसिंह को लंबे समय दरकिनार किया हो, लेकिन केंद्रीय राज्य मंत्री बनने के बाद पहली बार जोधपुर पहुंचने पर उनके स्वागत में कोई कसर नहीं छोड़ी। उन्होंने अपने विरोधियों को इस शक्ति प्रदर्शन के बहाने अपनी ताकत दिखा दी। गजेंद्रसिंह ने दर्शा दिया कि वे जमीन से जुड़े नेता हैं और आम कार्यकर्ता से लेकर शहर के लोग उनके साथ हैं।
हालांकि उनके स्वागत में निकाली गई रैली में लगे ‘अगला मुख्यमंत्री कैसा हो- शेखावत जैसा होÓ जैसे नारों ने एक नई राजनीतिक बहस छेड़ दी है। शेखावत पर विरोधी होने की छाप होने के बावजूद तमाम भाजपा नेता रैली में नजर आए, लेकिन खुद को मुख्यमंत्री का खासमखास मानने वाले राजसिको के अध्यक्ष मेघराज लोहिया, जेडीए चेयरमैन महेंद्र राठौड़, विधायक कैलाश भंसाली और जिला प्रमुख पूनाराम की गैरमाजूदगी ने भाजपा में चल रही गुटबाजी को जगजाहिर कर दिया।
कार्यकर्ता से आत्मीयता मिलने शेखावत को मुख्यमंत्री विरोधी बताकर लंबे समय से जोधपुर भाजपा ने एक तरह से बायकाट सा कर रखा था। जबकि सांसद होने के बजाए पैराशूट से उतरे राजनीतिक नियुक्तियां पाने वाले नेताओं को अधिक तवज्जो दी जा रही थी। उनमें से एक नेता ने खुद को मुख्यमंत्री और प्रदेशाध्यक्ष का करीबी बता कर अधिकारियों पर धौंस जमाते हुए शेखावत के नजदीकी माने जाने श्रीराम होटल से यूडी टैक्स वूसलने के लिए होटल सीज तक करने की कोशिश की। इसी तरह हैंडीक्राफ्ट व्यवसायी विनोद राजपुरोहित की होटल मामले में जेडीए से कार्रवाही करवा चुके है। यह दीगर बात है कि इन दोनों मामलों में उन्हें मात खानी पड़ी।
कल जिस प्रकार शेखावत के स्वागत में भाजपा नेता लाइन में लगे थे, उससे यह बात तो तय है कि शेखावत का कद बढ़ते ही मजबूरन कई नेताओं को झुकना पड़ा। ये नहीं भाजपा में गुटबाजी के चलते पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी भी शेखावत को खास तवज्जो नहीं देते थे। बीते दिनों एक थानाधिकारी ने सांसद शेखावत के समर्थकों को स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में वीआईपी रास्ते से प्रवेश नहीं दिया था। इस पर थानाधिकारी व शेखावत के बीच तीखी बहस भी हुई थी। एक महिला अधिकारी ने भी उस थानाधिकारी के सुर में सुर मिलाए थे, लेकिन कल शेखावत के बंगले पर कई बड़े पुलिस अधिकारी धोक लगाने के अदांज में व्यवस्था देखते नजर आए।
शेखावत जब अपने घर पहुंचे तो वहां उनके समर्थकों ने उत्साहित होकर अगला सीएम कैसा हो, गेजन्द्रसिंह जैसा हो.. के नारे लगाकर माहौल गर्मा दिया। कल से कई अटकलों का बाजार गर्म है। हालांकि उन्होंने मीडिया से रूबरू होकर इस बात को तूल नहीं देने की बात कही और कहा कि उनकी आदत राजनीति में अतिक्रमण करने की नहीं है और उन्हें जो काम दिया और वह उसे पूरा करेंगे।

LEAVE A REPLY