व्यापारियों ने स्वैच्छा से दोपहर तक रखा बंद

0
112

जोधपुर। व्यापारी वासुदेव इसरानी हत्याकांड के विरोध में आज विभिन्न संगठनों की तरफ से किया गया जोधपुर बंद के आहृान का मिला जुला असर देखने को मिला। दोपहर तक नई सड़क, सोजती गेट, पावटा, सरदारपुरा बी रोड, शास्त्रीनगर और चौपासनी हाउसिंग बोर्ड तक तक बंद का असर देखा गया। हालांकि बाहरी इलाकों में बंद का असर नजर नहीं आया। जलजोग चौराहा पर दूसरे दिन भी सभा होती रही। दोपहर 3 बजे परिजनों व प्रशासन की बातचीत में पोस्टमार्टम व शव उठाने पर सहमति बन गई। ५ बजे अंतिम संस्कार होगा। हालांकि व्यापारियों ने पुलिस कमिश्नर को नहीं हटाने तक जलजोग चौराहे पर धरना जारी रखने का निर्णय लिया है।
सनद रहे कि पदमराज डिपार्टमेंटल स्टोर प्राइवेट लिमिटेड के मालिक वासुदेव इसरानी पुत्र मिर्चुमल की रविवार की रात को गोली मार कर हत्या कर दी गई। उसके विरोध में दूसरे दिन भी सरदारपुरा में जलजोग चौराहे पर व्यवसायी, सिंधी समाज के लोग धरना देकर बैठे है। वहीं कांग्रेसी नेता भी उनके समर्थन देने के लिए कल से विरोध में उनके साथ बैठे है। सिंधी समाज और व्यापारिक संगठनों के जोधपुर बंद के आह्वान पर आज सुबह से शहर के कई इलाकों में व्यापारियों ने स्वेच्छा से अपनी दुकानें बंद रखी। यहां क्षेत्र के ज्यादातर व्यापारियों ने निकट भविष्य की दहशत और सहानुभूति रखते हुए बंद रखा। हालांकि सरदारपुरा क्षेत्र को छोड़कर दूसरे इलाकों में दोपहर बाद कुछ-कुछ दुकानें खुलने लगी। इस हत्याकांड को लेकर विरोध भी पसरने लगा है।

39 घंटे बाद पोस्टमार्टम पर राजी हुए परिजन
वासुदेव इसरानी का शव हत्या के बाद से महात्मा गांधी चिकित्सालय की मोर्चरी में रखा हुआ था। प्रशासन ने परिजनों से कई बार समझाइश की, लेकिन वे हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े रहे और शव नहीं उठाया। इस दौरान दोपहर 3 बजे प्रशासन व परिजनों की वार्ता सफल रही, वे शव के पोस्टमार्टम व दाह संस्कार के लिए राजी हो गए। लेकिन जलजोग चौराहे से धरना उठाने की बात से उन्होंने इंकार कर दिया। कमिश्नर को नहीं हटाने तक धरना जारी रखने की बात कही जा रही है।

गमगीन माहौल के बीच पुलिस की पेस्ट्री पार्टी
कल रात वासुदेव की दुकान के आसपास जहां गमगनी माहौल था। वहीं सुरक्षा में तैनात पुलिस अधिकारी ड्यूटी के बीच पास ही की एक बैकरी में पेस्ट्री पार्टी करते देखे गए.

LEAVE A REPLY