भीलवाड़ा में 90 बच्चों की मौत को लेकर हाईकोर्ट ने सरकार को फटकारा

0
149

जोधपुर। राजस्थान हाईकोर्ट के मुख्य खंडपीठ ने गत वर्ष हुई भीलवाड़ा में 90 बच्चों की मौत मामले में पूर्व में हाईकोर्ट ने जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए राज्य सरकार को फटकार लगाई है। इसके साथ ही कोर्ट ने इस मामले में पैरवी कर रहे अतिरिक्त महाधिवक्ता कांतिलाल ठाकुर व ऋषभ तायल को उक्त मामले में स्पष्ट रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा गया है।
मामले के अनुसार गत वर्ष हाईकोर्ट के न्यायाधीश गोविंद माथुर ने उक्त मामले को लेकर स्व प्रसंज्ञान बतौर जनहित याचिका दायर की गई थी। जिस पर जस्टिस गोविंद माथुर की खंडपीठ ने उक्त मामले को लेकर 30 अक्टूबर 2017 को आदेश पारित करते हुए बच्चों की मौत को लेकर पूरे आंकड़ों सहित संपूर्ण रिपोर्ट प्रस्तुत करने के आदेश दिये गये थे। जिस पर राज्य सरकार की ओर से उक्त मामले में कोर्ट में रिपोर्ट प्रस्तुत की गई। जिसको लेकर इस मामले में आज फिर से कोर्ट में सुनवाई की गई। जिस पर मुख्य न्यायाधीश प्रदीप नंद्राजोग व जस्टिस रामचंद्रसिंह झाला की खंडपीठ ने राज्य सरकार द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट पर असंतुष्टी जाहिर करते हुए कड़ी नाराजगी जताने के साथ ही फटकरा लगाई गई है। कोर्ट ने कहा कि यह रिपोर्ट है या फिर खिचड़ी। इसके साथ ही कोर्ट ने अतिरिक्त महाधिवक्ता को 6 सप्ताह का समय देने के साथ ही उक्त ममाले में स्पष्ट रिपोर्ट प्रस्तुत करने के आदेश दिए है। इसके अलावा इस याचिका में जनहित की ओर से अधिवक्ता कुलदीप वैष्णव पैरवी कर रहे है। अब इस मामले की सुनवाई तीन मार्च में होगी।

LEAVE A REPLY