अब बंद होंगे अवैध रूप से चल रहे रूफटॉप रेस्त्रां, आदेश जारी

0
24

जयपुर
अवैध रूप से कॉमर्शियल मॉल, आवासीय कॉम्प्लेक्स और रिहायशी घरों की छतों पर संचालित रूफटॉप रेस्टोरेंट, बार और डिस्कोथेक बंद किए जाएंगे। निदेशक एवं संयुक्त शासन सचिव पवन अरोड़ा ने सभी नगरीय निकायों, अधिशाषी अधिकारियों व स्वास्थ्य अधिकारियों को इस संबंध में आदेश जारी कर इनके खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने को कहा है। साथ ही कार्रवाई की सूचना राज्य सरकार को भेजने के आदेश भी दिए हैं। अरोड़ा ने शुक्रवार को इस संबंध में बैठक कर रूफ टॉप रेस्टोरेंट से संबंधित नियमों और मौजूदा स्थिति की जानकारी ली। इसके बाद ये आदेश जारी किए। निदेशक विधि नगर निगम एवं स्वायत्त शासन विभाग अशोक कुमार सिंह ने कहा कि आमजन की सुरक्षा और सुविधा को देखते हुए आदेश की कॉपी सभी जिला कलेक्टर, महापौर, आयुक्तों को भेजी गई है। हम चाहते हैं कि मुंबई में ऐसे ही अवैध रूप से संचालित रूप टॉप रेस्टोरेंट में घटी घटनाओं की पुनरावृत्ति नहीं हो। बढ़ते कल्चर के लिहाज से आए दिन रूफटॉप रेस्टोरेंट खुलते जा रहे हैं। जिनमें बार-डिस्कोथेक की चकाचौंध के लिए हजारों युवा दौड़ रहे हैं। जबकि ऐसे रेस्टोरेंट के पास पार्किंग तो दूर अग्निसुरक्षा मानक, फायर सैफ्टी यंत्र नहीं है। खुले में गैस सिलेंडर का उपयोग होने से दुर्घटनाओं की आशंका बनी रहती है। रेस्टोरेंट संचालित करने के लिए जो ढांचा खड़ा किया जाता है, वह भी अस्थायी होने से सुरक्षा मानकों के अनुरूप नहीं है। एक बड़ी लापरवाही आगजनी व भगदड़ की स्थिति में निकास के लिए पर्याप्त व्यवस्था का नहीं होना भी है। कई जगह ऐसे रेस्टोरेंट में तेज आवाज वाले म्यूजिक के चलते आस पड़ोस को भी परेशानी होती है। अवैध रूप से संचालित रूफ टॉप रेस्टोरेंट, बार, डिस्कोथेक पर आमजन की सुरक्षा और सुविधा के लिए नेशनल बिल्डिंग कोड के प्रावधानों का पालन कराते हुए कार्रवाई के आदेश दिए हैं। रूफ टॉप रेस्टोरेंट का चलन नया होने के चलते बिल्डिंग बॉयलॉज में इनके लिए प्रावधान स्पष्टता से लागू कराएंगे। तब तक नेशनल बिल्डिंग कोड को लागू कराने की जरूरत है। जिसके मुताबिक इनमें स्टेयर्स की चौड़ाई 1.2 मीटर और किसी भी पाइंट से एक्जिट रूट की दूरी 15 मीटर से अधिक नहीं हो। इसके अलावा फायर सुरक्षा उपकरण, पार्किंग जैसी बुनियादी सुविधाओं मौजूद हो।

LEAVE A REPLY