बाबा के आश्रम में नेपाल की भी लड़कियां मिलीं, सभी गरीब परिवारों से

0
36

आबूरोड
माउंटआबू और आबूरोड स्थित वीरेंद्र देव दीक्षित के आश्रमों को लेकर राज्य बाल आयोग ने जिला प्रशासन और बाल कल्याण समिति से कहा है कि वे तीन दिन के अंदर अपनी रिपोर्ट दें ताकि आगे की कार्रवाई की जाए। आयोग खुद की रिपोर्ट भी सोमवार तक पूरी कर लेगा। इस बीच गुरुवार शाम को जब आयोग की टीम आबूरोड में स्थित बाबा के आश्रम में कार्रवाई कर रही थी। उसी दौरान वहां एक व्यक्ति ने कार्रवाई में बाधा डालते हुए अंदर अपनी बेटी बताई। आयोग ने जब अंदर मौजूद सभी बालिकाओं से पूछा कि यह किसका पिता है तो सभी ने इससे इंकार किया। यह भी सामने आया है कि आश्रम में मौजूद सभी बालिकाएं गरीब परिवारों से ही हैं और ये नेपाल, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश समेत दूसरे राज्यों की रहने वाली हैं। आयोग ने तय किया है कि इन सभी बालिकाओं को उनके माता पिता तक पहुंचाया जाएगा, लेकिन इससे पहले सभी के पहचान पत्र व अन्य दस्तावेज जांचे जाएंगे। कार्रवाई के दौरान बाधा डालने वाले व्यक्ति के खिलाफ आयोग ने आबूरोड थाने में मामला भी दर्ज करवाया है। हमने अपनी जांच पूरी कर ली है। सोमवार को रिपोर्ट तैयार हो जाएगी। आश्रम पूरी तरह से गैरकानूनी और कैदखाने जैसा है। आबूरोड में हमारी कार्रवाई के दौरान एक व्यक्ति ने आकर बाधा पहुंचाई। वह अंदर अपनी बेटी बता रहा था और कार्रवाई का विरोध कर रहा था।

LEAVE A REPLY