टीम इंडिया की हालत देख गावस्कर को आई धोनी की याद

0
61

नई दिल्ली। दक्षिण अफ्रीका दौरे पर भारतीय टीम के चयन और फ़ैसलों ने सबको हैरान किया है। फिर वो टीम के उप कप्तान और विदेशी ज़मीं पर सबसे सफल भारतीय बल्लेबाज़ों में से एक अजिंक्य रहाणे को बाहर रखना हो या पहले टेस्ट के अपने सबसे सफल गेंदबाज़ भुवनेश्वर को दूसरे टेस्ट में ना खिलाना हो या फिर मैच के चौथे दिन तीसरा विकेट गिरने के बाद रोहित शर्मा को बल्लेबाजी के लिए ना भेजना हो। मुश्किल हालात में पार्थिव पटेल को बल्लेबाज़ी के लिए भेजने का फ़ैन्स के साथ-साथ अब पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर भी इस पर खुलकर बोले हैं। सुनील गावस्कर ने इस संबंध में कहा, आप पहले टेस्ट से इस टीम के चयन को देखिए। इस टेस्ट में भी टीम का चयन देखिए और बाकी चीज़ें जो ये टीम कर रही है। ये टीम अलग तरह से सोच रही है, जिस पर हम में से कोई भी उंगली नहीं उठा सकता। भारतीय क्रिकेट से जुड़े हम सभी लोगों को दुआ करनी चाहिए कि ये जो कर रहे हैं वो काम कर जाए। पहले टेस्ट में वो काम नहीं किया। दूसरे टेस्ट में भी अब तक वो काम नहीं किया है। सुनील गावस्कर का कहना है कि, टीम इंडिया को टेस्ट क्रिकेट में अभी भी धोनी की बहुत जरूरत है। यह बात गावस्कर ने सेंचुरियन टेस्ट के चौथे दिन कॉमेंट्री के दौरान कही। कॉमेंट्री के दौरान गावस्कर बतौर विकेटकीपर पार्थिव पटेल की गलतियों पर बात कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने टीम में धोनी की जरुरत पर भी बात की।
गावस्कर ने कहा, धोनी अभी और टेस्ट क्रिकेट खेल सकते थे, लेकिन कप्तानी के बोझ की वजह से उन्होंने टेस्ट क्रिकेट को जल्दी अलविदा कह दिया। उन्होंने कहा, अगर धोनी खेलना चाहते तो वह आसानी से खेल सकते थे, मेरे विचार से उन पर कप्तानी का दबाव कुछ ज़्यादा ही बढ़ गया था और इसलिए उन्होंने टेस्ट क्रिकेट छोड़ दिया। अगर मैं उन्हें सलाह देता, तो यही बताता कि वह भले कप्तानी छोड़ देते, लेकिन बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज टीम में रहते। ड्रेसिंग रूम में उनकी सलाह टीम के लिए बेहद कारगर होती, लेकिन शायद उन्होंने सोचा कि खेल के एक फॉर्मेट को छोड़ देना ही बेहतर होगा। पार्थिव पटेल ने डीन एल्गर का कैच छोडक़र सेंचुरियन में बड़ी गलती की, जिसके बाद उन्हें सोशल मीडिया पर भी जमकर ट्रोल किया गया था।

LEAVE A REPLY