आइडिया सेल्युलर को हुआ 1,285.6 करोड़ रुपये का घाटा

0
54

मुंबई। आइडिया सेल्युलर ने बुधवार को दिसंबर 2017 क्वॉर्टर के रिजल्ट पेश किए, जिसमें लगातार पांचवीं तिमाही में उसे घाटा हुआ। कंपनी का यह अब तक का सबसे बड़ा लॉस है। इंडस्ट्री में चल रही प्राइस वॉर और नेटवर्क कनेक्ट चार्जेज में कटौती का पुरानी टेलीकॉम कंपनियों पर बुरा असर पड़ा है। आइडिया को 1,285.6 करोड़ रुपये का घाटा हुआ, जबकि इससे पिछली तिमाही में उसे 1,107.7 करोड़ रुपये का लॉस हुआ था। वहीं, पिछले साल की इसी तिमाही में कंपनी को 385.6 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा था। आइडिया के रिजल्ट पर ईटी ने मार्केट एनालिस्टों का पोल किया था, जिसमें कंपनी का घाटा 1,314 करोड़ रुपये रहने का अनुमान लगाया गया था। इस लिहाज से आइडिया का प्रदर्शन मार्केट एनालिस्टों की आशंका से बेहतर रहा है। कंपनी की आमदनी दिसंबर तिमाही में 25 पर्सेंट की गिरावट के साथ 6,509.7 करोड़ रुपये रही। इसमें तिमाही आधार पर 13 पर्सेंट की कमी हुई। यूजर्स की संख्या के लिहाज से देश की तीसरी बड़ी टेलीकॉम ने रिलायंस जियो इंफोकॉम से कमजोर प्रदर्शन किया है, जिसने सिर्फ डेढ़ साल पहले इंडस्ट्री में कदम रखा था। सेल्स और मुनाफा दोनों मोर्चों पर आइडिया का प्रदर्शन जियो से कमजोर रहा है। पिछले शुक्रवार को जियो के नतीजे आए थे और उसका मुनाफा 504 करोड़ रुपये व आमदनी 6,879 करोड़ रुपये रही थी। जियो ने दिसंबर क्वॉर्टर में सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी भारती एयरटेल से भी अधिक मुनाफा कमाया। एयरटेल को इस क्वॉर्टर में 304 करोड़ रुपये का लाभ हुआ है।
आइडिया ने बताया कि इंटरकनेक्ट यूसेज चार्ज (आईयूसी) में भारी कटौती और इंडस्ट्री में चल रही प्राइस वॉर से उसे नुकसान हो रहा है। कंपनी ने बताया कि हाई एंड कस्टमर्स अनलिमिटेड वॉयस बंडल्ड डेटा प्लान पर शिफ्ट हो रहे हैं। रिजल्ट के बाद मार्केट एनालिस्टों से बातचीत में कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर हिमांशु कपानिया ने कहा कि वह प्राइस में कटौती नहीं करेगी। इस मामले में जियो और एयरटेल ने एग्रेसिव रुख अपनाया हुआ है। कपानिया ने कहा कि रेट्स जब बहुत कम हो जाते हैं, तभी आइडिया उसे लेकर कदम उठाती है।
ट्राई ने अक्टूबर में आईयूसी में को 14 पैसे प्रति मिनट से घटाकर 6 पैसे प्रति मिनट कर दिया था। इससे जहां जियो को फायदा हुआ, वहीं पुरानी टेलीकॉम कंपनियों को नुकसान हुआ। आइडिया ने कहा कि आईयूसी में कटौती के चलते उसकी आमदनी में 820 करोड़ रुपये की गिरावट आई। उसने कहा कि इससे कंपनी को 230 करोड़ रुपये के ऑपरेटिंग प्रॉफिट का नुकसान उठाना पड़ा। कम आईयूसी के चलते आइडिया का ऑपरेटिंग प्रॉफिट 44 पर्सेंट की गिरावट कम हुआ।

LEAVE A REPLY