भूषण स्टील को खरीदने के लिए जेएसडब्ल्यू स्टील ने दिखाई दिलचस्पी

0
132

मुंबई। कर्ज के भारी बोझ से दबी भूषण स्टील को खरीदने के लिए आर्सेलर मित्तल, जेएसडब्ल्यू स्टील, टाटा स्टील और एक प्राइवेट इक्विटी फर्म के साथ ही मैनेजमेंट स्टाफ ने बाइंडिंग प्रपोजल दिया है। भूषण स्टील के 44,498 करोड़ रुपये के डेट पर डिफॉल्ट के मामले को सुलझाने की कोशिश कर रहे इनसॉल्वेंसी प्रोफेशनल विजयकुमार वी अय्यर को शनिवार को कंपनी के लिए बिड मिली थी और इन्हें मंगलवार तक खोला जाएगा। एक सूत्र ने बताया, हमें चार बिड मिली हैं और अब रिजॉल्यूशन प्रोफेशनल इनका आकलन करने के बाद क्रेडिटर्स की कमेटी के सामने पेश करेंगे। अगर किसी भी बिड के साथ प्रमोटर का कोई संबंध मिला तो उसे रद्द कर दिया जाएगा। कंसल्टेंसी फर्म डेलॉयट बैंकरप्सी के समाधान का यह प्रोसेस चला रही है।
भूषण स्टील बैंकरप्सी के तहत जाने वाला अभी तक का सबसे बड़ा मामला है। सरकार और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया इनसॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड के जरिए बैड लोन की समस्या का हल निकालने की कोशिश कर रहे हैं। अभी बैंकरप्सी कोर्ट्स में करोड़ों रुपये के डिफॉल्ट से जुड़े 500 से अधिक मामले चल रहे हैं।
भूषण स्टील की बिडिंग में पिछले एक महीने में कई बार उतार-चढ़ाव आए हैं। बहुत सी ग्लोबल कंपनियों ने पहले कंपनी को खरीदने में दिलचस्पी दिखाई थी, लेकिन बाद में वे दौड़ से हट गई। भूषण स्टील के एक लेंडर ने बताया, हमें आक्रामक बिड्स की उम्मीद है क्योंकि लेंडर्स ने यह स्पष्ट कर दिया है कि वे सबसे अधिक बिड देने वाले के साथ ही मोलभाव करेंगे। जेएसडब्ल्यू स्टील ने पिरामल एंटरप्राइजेज के घाटे में चलने वाली कंपनियों को खरीदने वाले फंड के साथ मिलकर अपनी बिड दी है। पहले इस बिड में जापानी कंपनी जेएफई स्टील कॉर्प के शामिल होने की उम्मीद थी, लेकिन वह अंतिम समय में पीछे हट गई। अनिल अग्रवाल की वेदांता रिसोर्सेज के भी इस डील में दिलचस्पी लेने की अटकल थी, लेकिन उसने बिड नहीं दी।
भूषण स्टील के पास सालाना 50 लाख टन स्टील का प्रॉडक्शन करने की क्षमता है। रिजॉल्यूशन प्रोफेशनल ने कंपनी की लिक्विडेशन वैल्यू 15,000 करोड़ रुपये रखी है। इससे नीचे की बिड को स्वीकार नहीं किया जाएगा। भूषण स्टील के लिए अधिकतर बिड्स 25,000-30,000 करोड़ रुपये के बीच मिलने की उम्मीद है। भूषण स्टील के जरिए जेएसडब्ल्यू को उत्तरी और पूर्वी भारत में अपना बिजनेस बढ़ाने का मौका मिलेगा। देश के पूर्वी क्षेत्र में दबदबा रखने वाली टाटा स्टील अगर यह डील करने में सफल रहती है तो पूर्वी क्षेत्र पर उसकी पकड़ और मजबूत होगी।

LEAVE A REPLY