क्या आपके दौडऩे का तरीका सही है ?

0
46

आज कल लोग रोज सबुह पार्क और जिम में अपना वजन घटाने के लिये खूब दौड़ते हैं। अगर आपको अपना वजन कम करना है, तो दौडऩे से अच्छी एक्सरसाइज और कोई नहीं हो सकती। यह एक बहुत ही लाभदायक कार्डियो एक्सरसाइज है जो कि वजन कम करने, हृदय रोग को दूर रखने, बुढ़ापा धीमा करने और फेफड़ों को दुरूस्त रखने के लिये जानी जाती है। बहुत से लोग बहुत ज्यादा दौडऩे के बावजूद भी अपना वजन कम नहीं कर पाते। इसका सिर्फ एक ही कारण है कि वे सही तरीके से नहीं दौड़ते है।
दौडऩे से पहले अपने शरीर को आर्मअप जरुर कर लें, जिससे कि दौड़ते वक्त आपके पैरों में मोंच ना आए या फिर मासपेशियों में चोट ना लगे।
सबसे पहले हल्की हल्की जॉगिंग करें या फिर धीरे धीरे चलना शुरु करें! इससे आप लंबे समय तक दौड़ सकेगें। पहले दो से तीन मिनट तक दौड़े उसके बाद धीरे धीरे अपना समय और बढाएं।
अगर आप ट्रेडमिल पर दौड़ते हैं तो उसमें आप अपनी इच्छा अनुसार स्पीड को बढ़ाया या घटाया जा सकता है। नए लोगों को अपनी स्पीड धीमी रखनी चाहिये।
अगर आप एडिय़ों पर जोर दे कर दौड़ेगें तो आपके घुटनों पर इसका बुरा असर पड़ेगा और अगर आप पैरों की उंगलियों पर जोर दे कर दौड़ते हैं तो, इससे आपकी काल्फ पर जोर पड़ता है जिससे पैरों में दर्द हो जाता है। दौड़ते वक्त अपने पैरों की उंगलियों को सीधा रखें।
अगर आपके घुटने मजबूत रहेगें तो आप ठीक से दौड़ पाएंगें। मजबूत घुटनों के लिये आपको वॉल स्क्वैट वाली एक्सरसाइज करनी चाहिये।
खराब और ऊबड़ खाबड़ सतह आपके घुटनों और पैरों के लिये नुकसानदेह साबित हो सकता है।
रनिंग के दौरान एक और बात का ध्यान रखें। कभी भी बहुत तेज न दौड़ें। इससे शरीर पर अतिरिक्त दबाव पड़ेगा और आप जल्दी थक भी जाएंगे। बहुत तेज दौडऩे पर आपका शरीर भी दुखेगा और दिन भर आलस्य हावी रहेगा।
दौडऩे के साथ साथ अन्य कार्डियो वर्कआउट जैसे योगा, किक बॉक्सिंग, जुंबा, जॉगिंग, तैराकी आदि व्यायाम भी करें।

LEAVE A REPLY