ऑयली स्किन पर मेकअप करते समय ध्यान रखें ये बातें

0
40

तेल ग्रंथियों के अत्यधिक क्रियाशील रहने पर त्वचा में सीबम और अतिरिक्त तेल का उत्पादन होने लगता है। इस कारण तैलीय त्वचा पर मेकअप करना बहुत मुश्किल हो जाता है। तैलीय त्वचा पर कुछ देर बाद ही मेकअप खराब होने लगता है क्योंकि तेल के साथ सब कुछ बहने लगता है और चेहरा धूल-मिट्टी से भरा लगता है। वैसे तो तैलीय त्वचा के लिए कई घरेलू नुस्खे और कॅस्मेटिक्स उपलब्ध हैं लेकिन जब मेकअप की बात आती है तो स्थिति थोड़ी मुश्किल हो जाती है। अगर आपकी ऑयली स्किन है तो आपको मेकअप करते समय कुछ टिप्स का जरूर ध्यान रखना चाहिए। इन ट्रिक्स की मदद से आपका मेकअप लंबे समय तक टिका रहता है। तो चलिए जानते हैं कि ऑयली स्किन पर किस तरह से मेकअप को लंबे समय तक टिकाया जा सकता है।
प्राइमर से करें शुरुआत
तैलीय त्वचा पर मेकअप करते समय आपको सबसे पहले प्राइमर लगाना चाहिए। प्राइमर त्वचा पर अतिरिक्त ऑयल को आने से रोकता है। मैट फिनिश का प्राइमर ऑयली स्किन के लिए बैस्ट रहता है। प्राइमर ऑयली त्वचा को बदलकर उस पर लंबे समय तक मेकअप को टिकाए रखने में मदद करता है। आंखों के लिए अलग प्राइमर का इस्तेमाल की जिससे आई मेकअप अच्छी तरह से सैट हो पाए।

मिनरल मेकअप
अगर आपकी ऑयली स्किन है और आप बहुत ज्यादा मेकअप करने की सोच रहीं हैं तो आपको मिनरल मेकअप का इस्तेमाल करना चाहिए। मिनरल मेकअप में ऑयल फ्री अजैविक पदार्थ होते हैं जिन पर त्वचा से निकलने वाले आयॅल का असर नहीं पड़ता है। जिंक ऑक्साइड और टाइटेनियम ऑक्साइड से मिलकर बना होता है मिनरल मेकअप और ये त्वचा के लिए सनस्क्रीन का काम भी करता है। मिनरल मेकअप में आपको ये डर नहीं रहता कि कुछ समय बाद ये मेकअप ऑयल की वजह से खराब हो जाएगा साथ ही आपको सनस्क्रीन लगाने की जरूरत भी नहीं पड़ती है। आपको आसानी से ऑनलाइन और मेकअप स्टोर्स पर मिनरल मेकअप मिल जाएगा।

फेस पाउडर
ऑयली स्किन पर लंबे समय तक मेकअप टिकाए रखने के लिए फेस पाउडर लगाना ना भूलें। तैलीय त्वचा पर मेकअप करते समय फेस पाउडर सबसे ज्यादा जरूरी होता है। आप चाहें जितना भी मेकअप लगा लें लेकिन नैचुरल स्किन ऑयल उसे ग्लॉसी और चिपचिपा बना ही देता है। मेकअप के आखिर में फेस पाउडर जरूर लगाएं। ये फाउंडेशन को भी लंबे समय तक टिकाए रखता है।

ह्यालयूरोनिक एसिड वाला मॉइश्चराइजऱ
ऑयली स्किन पर बड़ी आसानी से रोमछिद्र ब्लॉक़ हो जाते हैं। वहीं मेकअप करने पर तैलीय त्वीचा के रोमछिद्र बंद हो जाते हैं या उनमें धूल-मिट्टी घुस जाती है। इससे बचने के लिए मेकअप शुरु करने से पहले ह्यालयूरोनिक एसिडयुक्त मॉइश्चराइजऱ लगाएं। ये आपकी त्वचा में नमी को बनाए रखता है और रोमछिद्रों को सिकुड़ देता है जिससे उनमें मेकअप नहीं घुसता और वो बंद भी नहीं होते हैं।

मैट कॉम्पैक्ट
ऑयली स्किन के लिए कॉम्पैक्ट चुनना काफी मुश्किल का काम होता है। कई ब्रांड्स ऑयल कंट्रोल करने का दावा तो करते हैं लेकिन असल में वो ऐसा कर पाने में पूरी तरह से सक्षम नहीं होते हैं। इनसे त्वचा के रोमछिद्र बंद हो जाते हैं और चेहरा भद्दा लगने लगता है। इस स्थिति से बचने के लिए आपको मैट कॉम्पैक्ट का इस्तेमाल करना चाहिए। ये तैलीय त्वचा पर लंबे समय तक टिका रहता है। कुशन कॉम्पैक्ट और ल्युेमिनस कॉम्पैक्ट का प्रयोग बिलकुल ना करें।

ब्लॉटिंग पेपर
मेकअप करते समय जब कभी भी आपको लगे कि स्किन पर ऑयल बहुत ज्यादा निकल रहा है तो ब्लॉटिंग पेपर से उसे सैट कर दें। ब्लॉटिंग पेपर त्वचा से अतिरिक्त तेल को साफ कर उसे मुलायम बना देता है। आपको ब्लॉटिंग पेपर को त्वचा पर सिर्फ थपथपनाना है, उसे रगडऩा नहीं है।

कंसीलर
आपकी स्किन टाइप चाहे जो भी हो, कंसीलर तो आपको जरूर लगाना चाहिए। कंसीलर से मुहांसे, झुर्रियां और दाग-धब्बों को भी छिपाया जा सकता है। मार्केट में आपको कंसीलर की कई तरह की वैरायटियां मिल जाएंगीं। ऑयली स्किन के लिए स्पॉट करेक्टर कंसीलर पेन वाला कंसीलर उपयुक्त रहता है। अगर आपकी तैलीय त्वचा है तो आपको ऑयल बेस्ड लिक्विड कंसीलर बिलकुल नहीं लगाना चाहिए।

LEAVE A REPLY