फ्लिपकार्ट की 51 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीद सकती है वॉलमार्ट

0
15

नयी दिल्ली : फ्लिपकार्ट के 51 फीसद शेयर वॉलमार्ट के खरीदे जाने की खबर सुर्खियों में है. सूत्रों की मानें तो कई दौर की हुई बैठकों में कई चीजें दोनों कंपनियों की बीच लगभग तय हो गयी है. फ्लिपकार्ट के 51 फीसद शेयर और भारतीय बाजार की कंपनी की कीमत 10 बिलियन से 12 बिलियन के बीच तय हो सकती है. फ्लिपकार्ट के साथ हो रहे समझौते से भारत के ऑनलाइन बाजार पर वॉलमार्ट के बड़ा कब्जा होगा. एक अंग्रेजी अखबार ने दावा किया है कि फिल्पकार्ट के पहले निवेशक भी अपने शेयर बचने की तैयारी में हैं. इसमें टाइगर ग्लोबल एक्सेल और एनस्पर्स जैसे ग्रुप शामिल हैं. अबतक शेयर खरीदारी को लेकर सारी चीजें तय नहीं हुई है लेकिन कई स्तर पर बातचीत के बाद यह सौदा लगभग तय माना जा रहा है.
वॉलमार्ट के वैश्विक सीईओ डॉग मैकमिलन हाल ही में भारत में थे और अपनी इस यात्रा के दौरान वे फ्लिपकार्ट के बेंगलुरु कार्यालय भी गये. कयास लगाये गये कि कंपनी फिल्पकार्ट में निवेश कर सकती है. फ्लिपकार्ट के प्रवक्ता ने उस वक्त इस विषय में किसी भी तरह की टिप्पणी से इनकार कर दिया था. इस पूरी खबर पर अबतक फ्लिपकार्ट की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी है. वॉलमार्ट भारत में पिछले चार सालों से आने की कोशिश कर रहा है. भारत में वॉलमार्ट की 21 दुकानें हैं. फ्लिपकार्ट बोर्ड की हाल में हुई बैठक में वॉलमार्ट के प्रस्ताव पर विचार किया गया. फ्लिपकार्ट को लगता है कि यहां वह आसानी से यह डील कर पायेगी. वॉलमार्ट भारत में ऑनलाइन सामान नहीं बेचती है. अमेजन की भारत में सीधे फ्लिपकार्ट से टक्कर है. फिल्पकार्ट अगर अमेजन से डील करती है तो सौदा कंपीटिशन कमीशन ऑफ इंडिया में अटकने की संभावना है. सूत्रों की मानें तो वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट को खरीदने के लिए ड्यू डिलिजेंस की प्रक्रिया पूरी कर ली है.

LEAVE A REPLY