श्रद्धा से मनाई बाबा साहेब की जयंती

0
51

संविधान निर्माता की 127वीं जयंती पर हुए शहर में कई कार्यक्रम
जोधपुर। बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर की 127वीं जयंती पर आज शहर में विभिन्न सामाजिक संगठनों और राजनैतिक संगठनों ने अनेक कार्यक्रम आयोजित कर बाबा साहेब को याद किया। इस बार 2 अप्रेल को हुए बंद के बाद हर राजनैतिक पार्टी बाबा साहेब के समर्थकों को अपने पक्ष में करने के लिए सक्रिय नजर आई।
डॉ. भीमराव अम्बेडकर जयंती पर आज उम्मेद स्टेडियम से अधिकारों के लिये दौड़ लगाई गई। जबकि नागौरी गेट सर्किल और अन्य स्थानों पर स्थापित बाबा साहेब की प्रतिमाओं पर पुष्पाजंलि कार्यक्रम आयोजित किये गए।
दो अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले के बाद हुए आंदोलन के दौरान बिगड़े हालात के बाद आज डॉ. भीमराव जयंती पर जुलूस और अन्य कार्यक्रमों में सामाजिक समरसता बिगडऩे की संभावना के चलते शहर के चौराहे और मुख्य मार्गो पर भारी पुलिस बल भी तैनात नजर आया और पुलिस की गाडिय़ा भी पैट्रोलिंग करती नजर आयी। चौराहों पर व्रज, और 108 एम्बुलेंस तक खड़ी की गई।
बाबा साहेब को पुष्पांजलि और श्रद्धांजलि कार्यक्रमों में उनके अनुयायियों को ज्यादा से ज्यादा जोड़ कर उनको खुश करने के लिये कांग्रेस और भाजपा दोनों ही पार्टियों के नेताओं ने कोई कसर नहीं छोड़ी दी। इसी कड़ी में जोधपुर शहर जिला कांग्रेस कमेटी अनुसूचित जाति विभाग की ओर से आयोजित कार्यक्रम में पुष्पांजलि अर्पित की गई जिसमें कांग्रेस के जिला कार्यकारिणी के पदाधिकारियों, महिला कांग्रेस, एनएसयूआई, सेवादल और युवा कांग्रेस के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। उन्होने बाबा साहेब के पद चिन्हों पर चलने का संकल्प भी लिया। नागौरी गेट चौराहे पर स्थित बाबा साहेब की आदमकद प्रतिमा पर भी आज भाजपा शहर और कांग्रेस शहर के पदाधिकारियों ने पुष्पांजलि कार्यक्रम आयोजित किये। राजस्थान हाईकोर्ट एडवोकेट्स एसोसियेशन की ओर से एसोसियेशन के पुस्तकालय भवन में बाबा साहेब को श्रद्झांल िअर्पित की गई। जोधपुर अनूसचिति जाति जनजाति वकिस समिति व भारतीय जाटव समाज और राजस्थान शिक्षा सेवा परिषद की ओर से महात्मा गांधी स्कूल में समारोह का आयोजन किया गया।
इसी प्रकार अंबेडकर क्रांति सेना की ओर से आज प्रतापनगर स्थित अंबेडकर पार्क से एक रैली निकाली गई। रैली आखलिया चौराहा, बोम्बे मोटर्स, सिवांची गेट, जालोरी गेट, नई सडक़, महामंदिर होते हुए नागौर गेट पहुंच कर बाबा साहेब को पुष्पांजलि कर समाप्त हो गई।

LEAVE A REPLY