जेटली से माफ़ी मांग सकते हैं तो एक कांस्टेबल से क्षमा क्यों नहीं मांग सकते केजरीवाल : दिल्ली हाईकोर्ट

0
13

नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से पूछा कि जब वह वित्त मंत्री अरुण जेटली जैसे अन्य लोगों से माफी मांग रहे हैं तो पुलिसर्किमयों के लिए ‘ठुल्ला’ शब्द इस्तेमाल करने के लिए एक कांस्टेबल से क्षमा क्यों नहीं मांग सकते। न्यायमूर्ति अनु मल्होत्रा ने कहा कि अगर केजरीवाल अपने बयानों के लिए अन्य सभी से माफी मांग रहे हैं तो वह पुलिस अधिकारियों के साथ ऐसा करके मामले का हल क्यों नहीं निकाल सकते। केजरीवाल के वकील ने कहा कि वह इस पर मुख्यमंत्री से निर्देश प्राप्त करेंगे, जिसके बाद अदालत ने मामले की अगली सुनवाई के लिए 29 मई की तारीख तय की।
अदालत केजरीवाल की एक याचिका पर सुनवाई कर रही थी जिसमें एक कांस्टेबल द्वारा दाखिल आपराधिक मानहानि के मामले में उन्हें तलब करने के निचली अदालत के आदेश को रद्द करने की मांग की गयी थी। केजरीवाल ने पिछले कुछ दिनों में जेटली , पंजाब के नेता बिक्रम मजीठिया और अन्य लोगों से उनके खिलाफ की गयी अपनी टिप्पणियों के लिए माफी मांगी है। पिछले दिनों सीएम केजरीवाल वित्त मंत्री अरुण जेटली, विक्रम मजीठिया और नितिन गडकरी सहित अन्य नेताओं से माफी मांग चुके हैं। उन्होंने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल से भी माफी मांग ली है। एक रिपोर्ट के मुताबिक तब केजरीवाल ने गडकरी को पत्र लिखकर भाजपा नेता के खिलाफ दिए गए कुछ बयानों पर खेद जताया था। सोलह मार्च को लिखे गए पत्र में कहा गया, “मैंने सत्यापन के बिना कुछ बयान दिए, ऐसा लगता है कि इन बयानों ने आपको ठेस पहुंचाई और इसलिए आपने मेरे खिलाफ मानहानि मामला दायर किया। मुझे आपसे निजी परेशानी नहीं है। मैं इस पर खेद प्रकट करता हूं।”

LEAVE A REPLY