गंभीर का कप्तान पद छोड़ना हिम्मत वाला फैसला था : रिकी पोंटिंग

0
39

नई दिल्ली। दिल्ली डेयरडेविल्स के मुख्य कोच रिकी पोंटिंग लीग के दौरान गौतम गंभीर का टीम के कप्तान का पद छोडऩा हिम्मत वाला फैसला था। पोंटिंग ने संवाददाता सम्मेलन में गंभीर के कप्तानी छोडऩे और श्रेयस अय्यर की कप्तानी की भूमिका के बारे में पूछे जाने पर यह बात कही। रविवार को दिल्ली डेयरडेविल्स ने अपने आखिरी लीग मैच में फिरोजशाह कोटला मैदान पर मुंबई इंडियंस को 11 रनों से हराया। इस हार ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2018 के प्लेऑफ में जगह नहीं बना पाए। लीग के बीच में ही गंभीर के कप्तानी छोडऩे के बाद टीम के प्रदर्शन के प्रभावित होने के बारे में पोंटिंग ने कहा, ‘गौतम के कप्तानी छोडऩे से मुझे नहीं लगता कि टीम के प्रदर्शन पर कोई नकारात्मक प्रभाव पड़ा। मैं यह कह सकता हूं कि मेरे साथ-साथ कई खिलाडिय़ों को हैरानी हुई। कप्तानी छोडऩा एक हिम्मत वाला फैसला था क्योंकि उन्हें लग रहा था कि उन्होंने जो किया है वह टीम की भलाई सोच कर किया। यह एक इंसान के रूप में उनके व्यक्तित्व के बारे में कई चीजें दर्शाता है। उनके कप्तानी छोडऩे के साथ-साथ टीम के अंतिम एकादश से हटने के फैसले से पृथ्वी शॉ को खेलने का मौका मिला।’
श्रेयस के कप्तान बनकर टीम को संभालने की बात पर पोंटिंग ने कहा, ‘श्रेयस के लिए यह काफी जिम्मेदारी की बात रही क्योंकि एक युवा खिलाड़ी होने के नाते उन पर काफी दबाव था और उन्होंने अपने करियर में इस प्रकार की जिम्मेदारी अधिक रूप से नहीं संभाली है। उन्होंने इस चुनौती को अच्छे से संभाला। उनका करियर बहुत लंबा है, न केवल आईपीएल में बल्कि भारतीय क्रिकेट टीम में भी।’ ऋषभ पंत के प्रदर्शन के बारे में पोंटिंग ने कहा, ‘ऋषभ के लिए यह सीजन शानदार रहा है। खुशी है कि उन्हें नारंगी कैप पहनने का मौका मिला। उन्होंने केन विलियमसन जैसे बल्लेबाज को पछाड़ा है। व्यक्तिगत रूप में ऋषभ का यह सीजन शानदार रहा है। उन्होंने शतक भी जड़ा। टीम के कप्तान श्रेयस अय्यर ने भी अच्छा प्रदर्शन किया।’

LEAVE A REPLY