बाबू पहलवान मर्डर केस: आरोपियों को पुलिस ने किया जेल से गिरफ्तार

0
65

बुधवार करेंगे कोर्ट में पेश
जोधपुर। शहर के भीतरी क्षेत्र वियज चौक स्थित किसान छात्रावास के सामने पांच माह पहले हुए बाबू पहलवान मर्डर केस का खुलासा करने बाद हत्या क आरोप में पकड़े गए उसके भतीजों व अन्य की सोमवार को केंद्रीय कारागाह में शिनाख्त परेड हुई। पुलिस मंगलवार को सभी अभियुक्तों को आज जेल से गिरफ्तार किया गया। बुधवार को इन्हें न्यायालय में पेश कर रिमाण्ड पर लिया जाएगा। सनद रहे कि थाना सदर कोतवाली के विजय चौक किसान छात्रावास के सामने रहने वाले बाबूलाल वैष्णव उर्फ बाबू पहलवान पुत्र स्व0 पन्नालाल वैष्णव उम्र 67 साल की 21 दिसंबर को सुबह वक्त 10.45 -11.30 बजे अज्ञात मुलजिमों द्वारा गमछा से गला घोंट कर व धारदार ब्लेड से गला काट कर घर मे ही व्हिल चौयर पर बैठे हुए की हत्या कर दी गई थी। इस सबंध मे मृतक के बड़े भाई पुरूषोत्म शर्मा की रिपोर्ट पर केस दर्ज किया गया था।
ऐसे हुआ था खुलासा : मृतक के पिता पन्नालाल सहित कुल चार भाई थे, जिनमें से एक भाई रामचन्द्र का परिवार पहले यहीं रहता था, जो गत 30 सालो से कोटा रहता है, रामचन्द्र का परिवार मृतक की पूजा पाठ, टोना टोटका से पीडि़त रहने तथा रामचन्द्र के पुत्र जितेन्द्र शर्मा के द्वारा प्रकरण की घटना से करीब 2 माह पहले विजय चौक में आने व मृतक की मैली क्रियाओं से पीडि़त होकर मृतक को सबक सिखाने जेसी बातें कही होने की जानकारी मिली। जिस पर तकनीकी अनुसंधान से जितेन्द्र की मौजूदगी घटना के वक्त विजय चौक क्षैत्र की पाई गई। पुलिस ने इस हत्याकांड में मकान नं0 16 न्यू जवाहर नगर कोटा निवासी 56 वर्षीय जितेंद्र शर्मा उर्फ बंटी पुत्र रामचंद्र, उसका छोटा भाई जयपुर के सीरसी रोड मीनावाल निवासी 53 वर्षीय धमेन्द्र शर्मा पुत्र रामचन्द्र शर्मा, मथुरा हाल कोटा के रणवीर सिंह उर्फ नन्दा पुत्र प्रतापसिंह गुर्जर और मकान नं0 132 बाछेड़ा खुर्द तहसील कुमराज जिला गुना मध्यप्रेदश हाल-कोटा के दौलतराम लोदा पुत्र प्रतापराम को गिरफ्तार किया था। बाद में जेल शिनाख्त परेड कार्रवाई के लिए जेल भिजवा दिया था। सभी को मंगलवार को जेल से गिरफ्तार किया गया।

LEAVE A REPLY