नाश्ता ना करने वाले हो जाते हैं मोटापे का शिकार

0
49
healthy breakfast

अगर आपको नाश्ता न करने की आदत है तो सावधान हो जाइए। नाश्ता छोडऩे से आपका वजन बढऩे और मोटापे की संभावना बढ़ जाती है। एक शोध के निष्कर्ष से पता चलता है कि अक्सर नाश्ता करने वाले 10.9 फीसदी लोगों की तुलना में नाश्ता न करने वाले 26.7 फीसदी लोग मोटापे का शिकार थे। अमेरिका के मेयो क्लीनिक के शोधकर्ता केविन स्मिथ ने कहा, कभी-कभी नाश्ता करना शरीर के मध्य भाग के मोटापे व भार बढऩे से जुड़ा हुआ है और यह जुड़ाव कभी नहीं नाश्ता करने वालों में ज्यादा स्पष्ट रूप से दिखता है। इसके अलावा जिन्होंने कभी नाश्ता नहीं किया, उन्होंने बीते सालों में खुद ज्यादा वजन बढऩे की सूचना दी है। इस शोध के लिए दल ने 2005 से 2017 तक 347 लोगों के नाश्ते की आदतों का अध्ययन किया। इन प्रतिभागियों की उम्र 18 से 87 साल रही और इनकी ऊंचाई, भार, कमर व कुल्हे के घेरे को मापा गया। नाश्ता न करने से आपके शरीर का मेटाबॉलिज्म धीमा हो जाता है। इसका अर्थ यह है कि आप जो भी खाते हैं, वह लंबे समय तक आपके शरीर में जमा रहता है। इसके साथ ही आप नाश्ता न करने से कमजोर महसूस करते हैं। और इसी कमजोरी के कारण आप शारीरिक क्रियायें भी कम करते हैं। इससे आपका वजन कम होने की प्रक्रिया भी धीमी हो जाती है।
अगर आप नाश्ता नहीं करेंगे तो आपका शरीर और मन भोजन के लिए लालायित रहेगा। ऐसे में आप मीठा और उच्च कैलोरी युक्त भोजन की ओर आकर्षति होंगे। यानी नाश्ता न करके आप एक साथ दो-दो गलतियां करेंगे। शोध यह प्रमाणित करते हैं कि जो लोग सुबह नाश्ता नहीं करते, उनके लिए अस्वास्थ्यकर भोजन से दूर रह पाना आसान नहीं होता। उनका मस्तिष्क अपने आप ही सेहतमंद भोजन की अपेक्षा अनहेल्दी भोजन को तरजीह देता है। नाश्ता न करने से आपको ध्यान केंद्रित करने में परेशानी आती है। कई बार हालात यह हो जाती है कि आप खुद को बीमार महसूस करने लगते हैं। नाश्ता न करने से आपका शरीर और दिमाग दोनों बीमार महसूस करने लगते हैं। क्योंकि आपके शरीर में पोषण की कमी होती है, इसलिए दिमाग बार-बार उस ओर जाता है। ऐसे में आप काम की ओर ध्यान नहीं लगा पाते। अगर आप इस दुविधा में हैं कि आपको नाश्ते में क्या खाना चाहिये तो इसके लिए आप किसी आहार- विशेषज्ञ से मदद ले सकते हैं। वह आपके बीएमआई के आधार पर सही नाश्ता चुनने में मदद करेगा। इसके साथ ही अगर आप वजन कम करना चाहते हैं, तो भी वह आपकी मदद करता है। आपके खाने की आदत और सेहत का गहरा ताल्लुक है। जो लोग अक्सर सुबह का नाश्ता छोड़ देते हैं या जल्दबाजी में आधा-अधूरा करते हैं उन्हें टाइप 2 डायबीटीज का खतरा बहुत ज्यादा होता है। इससे आपका ब्लड शुगर लेवल प्रभावित होता है और आपको डिप्रेशन, टेंशन और बेचैनी भी हो सकती है। ब्लड शुगर के एक स्तर से ज्यादा गिर जाने से शरीर में एनर्जी लेवल प्रभावित होता है और इसके परिणाम घातक हो सकते हैं।

LEAVE A REPLY