बंबई स्टॉक एक्सचेंज से डिलिस्ट हो जाएगी 222 कंपनियां

0
54

नई दिल्ली। दिग्गज स्टॉक एक्सचेंज बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) बुधवार से करीब 222 कंपनियों को डिलिस्ट करने जा रही है। आपको बता दें कि डीलिस्टिंग के बाद इन कंपनियों के शेयर्स में कारोबार नहीं किया जा सकेगा। इन कंपनियों में ट्रेंडिंग बीते छह महीने से प्रतिबंधित है। बीएसई की ओर से यह कदम उस समय उठाया गया है जब सरकार मुखौटा कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। इसमें सूचीबद्ध और गैर सूचीबद्ध दोनों कंपनियां शामिल हैं। इनपर गलत तरीके से फंड का इस्तेमाल करने का आरोप है। अगस्त महीने में बाजार नियामक सेबी ने एक्सचेंज को 331 मुखौटा कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिये थे। वहीं, सरकार ने पहले से ही दो लाख से अधिक कंपनियों का रजिस्ट्रेशन कैंसिल किया हुआ है। इन कंपनियों में काफी लंबे समय से कोई व्यवसायिक गतिविधि नहीं हो रही थी।
बीएसई ने अपने सर्कुलर में कहा, 210 कंपनियां जिनमें बीते छह महीनों से कोई ट्रेड नहीं हो रहा उन्हें एक्सचेंज के प्लेटफॉर्म से डिलिस्ट कर दिया जाएगा। यह नियम 4 जुलाई से प्रभावी होने जा रहा है। साथ ही यह भी कहा गया है कि छह कंपनियां जिनमें एशियन इलेक्ट्रॉनिक्स, बिड़ला पावर सॉल्यूशन, क्लासिक डायमंड्स (इंडिया) लिमिटेड, इनोवेंटिव इंडस्ट्रीज, पारामाउंट प्रिंटपैकेजिंग और एसवीओजीएल ऑयल गैस एंड एनर्जी शामिल है, को अनिवार्य रूप से नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) से डिलिस्ट किया जा चुका है। इन्हें बुधवार से बीएसई से भी हटाया जा रहा है। इससे पहले मई महीने में एक्सचेंज ने 200 कंपनियों को डिलिस्ट कर दिया था क्योंकि उन कंपनियों के शेयर्स में ट्रेड छह महीने से प्रतिबंधित था।

LEAVE A REPLY