अवैध संबंधों को लेकर मारपीट में गई महिला की जान, हत्या का आरोप

0
23

जोधपुर। बिलाड़ा थाना क्षेत्र में अवैध संबंधों को लेकर हुई मारपीट के दौरान एक महिला की मौत हो गई। मृतका के भाई का आरोप है कि उसके बहनोई ने यह मारपीट की थी। बहनोई के छोटे भाई की पत्नी से नाजायज संबंध थे जिसका उसकी बहन ने विरोध जताया था। अब भाई ने बहनोई सहित करीब डेढ़ दर्जन लोगों के खिलाफ बहन की हत्या के बाद शव का दाह संस्कार कर सबूत नष्ट करने का मुकदमा इस्तगासा के जरिये दर्ज करवाया है। पुलिस ने अदालत के आदेश पर मामला दर्ज कर तफ्तीश आरंभ की है।
पुलिस ने बताया कि बिलाड़ा के सिलारी निवासी अर्जुनराम पुत्र कानाराम बावरी ने रिपोर्ट दी है कि उसकी बहन केलमी की किशनाराम पुत्र रामसुख बावरी के साथ करीब 25 साल पहले शादी हुई थी। शादी के बाद वह अपने पति और बच्चों के साथ ससुराल में ही रहती थी।
कुछ वर्षों बाद उसके पति किशनाराम के अपने छोटे भाई की पत्नी सुशीला के साथ अनैतिक संबंध हो गए। इसके बाद उसकी बहन को पति और उसकी देवरानी सुशीला मानसिक और शारीरिक रूप से परेशान करते थे।
गत 29 सितम्बर को उसकी बहन और पति के बीच सुशीला के साथ नाजायज संबंधों को लेकर झगड़ा हुआ और इस दौरान हुई मारपीट से उसकी बहन की मौत हो गई।
उस वक्त पीहर पक्ष को भी मौके पर बुलाया गया लेकिन उसकी बहन की मौत को सामान्य बताकर और डरा-धमका कर उनको पुलिस कार्रवाई नहीं करने दी। साथ ही उसका अंतिम संस्कार करवा दिया। बाद में पूरी घटनाक्रम का पता लगने पर पीहर पक्ष ने थाने में मुकदमा दर्ज करवाने का प्रयास किया लेकिन वहां दर्ज नहीं होने पर अदालत में इस्तगासा दायर किया।
इन्हें बनाया आरोपी : मामले में पुलिस ने अदालत से मिले इस्तगासे के आधार पर मृतका के पति किशनाराम पुत्र रामसुख बावरी, बेनाराम बावरी, ओमाराम पुत्र बेनाराम, भूपेन्द्र पुत्र बेनाराम, दुर्गाराम पुत्र जारीराम, प्रकाश पुत्र दुर्गाराम, भैराराम पुत्र दुर्गाराम, किशोर पुत्र रडाराम, भोराराम पुत्र रामसुख, कलाराम पुत्र रामसुख, धाराराम पुत्र नामालूम, पपाराम पुत्र धाराराम, दौलाराम पुत्र किशनाराम, हड़मानराम पुत्र किशनाराम, श्रवणराम पुत्र तेजाराम, रामूराम विश्नोई आदि को आरोपी बनाया है।

LEAVE A REPLY