बगैर प्रैक्टिस धोनी का आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करना असंभव: कपिल

0
54

नई दिल्ली। अब तक का अपना सबसे खराब आईपीएल सीजन समाप्त करके चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी सोमवार को रांची पहुंच गए। धौनी रांची एयरपोर्ट से सीधे अपने घर रवाना हो गए। इसी साल 15 अगस्त को इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह चुके धोनी अभी रांची में ही आराम करेंगे।
उन्होंने यह कहा है कि वह अगला आईपीएल भी खेलना चाहेंगे। भारत के महान क्रिकेटर कपिल देव का मानना है कि अगर महेंद्र सिंह धोनी इस साल की तरह बिना मैच प्रैक्टिस के इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में खेलने का फैसला करते हैं तो उनके लिए अच्छा प्रदर्शन करना असंभवज् होगा। आईपीएल में 11वीं बार खेल रही चेन्नई सुपर किंग्स की टीम इस बार पहली बार आईपीएल के प्लेऑफ में जगह बनाने में नाकाम रही और पिछले साल विश्व कप सेमीफाइनल के बाद पहली बार प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेल रहे धोनी 14 मैचों में 116 के स्ट्राइक रेट से सिर्फ 200 रन ही बना सके जबकि इस दौरान उन्होंने कोई फिफ्टी भी नहीं जड़ी। दिल का दौरा पडऩे के बाद हाल में एंजियोप्लास्टी कराने वाले कपिल चाहते हैं कि यह पूर्व भारतीय कप्तान अपनी फॉर्म वापस हासिल करने के लिए घरेलू टूर्नामेंटों में अधिक खेले।
कपिल ने एक न्यूज से कहा कि अगर धोनी हर साल सिर्फ आईपीएल में खेलने का फैसला करते हैं तो उसके लिए अच्छा प्रदर्शन करना असंभव होगा। उम्र के बारे में बात करना सही नहीं है लेकिन उसकी आयु (39 बरस) में वह जितना अधिक खेलेंगे शरीर उतना ही लय में रहेगा। उन्होंने कहा कि अगर आप साल में 10 महीने क्रिकेट नहीं खेलोगे और अचानक आईपीएल खेलोगे तो आप देख सकते हो कि क्या होगा। इतना क्रिकेट खेलने पर किसी सीजन में उतार चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। क्रिस गेल जैसे खिलाड़ी के साथ भी ऐसा हुआ है। कपिल का मानना है कि धोनी को इस सीजन में घरेलू क्रिकेट में खेलना चाहिए। उन्होंने कहा कि उसे प्रथम श्रेणी क्रिकेट (घरेलू लिस्ट ए और टी-20) में जाना चाहिए और वहां खेलना चाहिए।

LEAVE A REPLY